ट्वेंटी-ट्वेंटी (2020) की शुरूआत!

लो जी नया साल शुरू हो गया। ऐसे मौकों के लिए लोग अपनी पोस्ट तैयार रखते हैं, जिससे घड़ी का कांटा सही जगह पहुंचते ही तुरंत ‘चेप’ दें। लेकिन मैं थोड़ा सुस्त बंदा हूँ।

 

 

वैसे इस साल का शीर्षक भी जोरदार है ‘ट्वेंटी-ट्वेंटी’, जैसे 20-20 का क्रिकेट मैच रोमांचक और उत्साह से भरा होता है, वैसे ही यह वर्ष भी रोमांच और उत्साह से भरा रहे, और सबसे जरूरी है कि यह प्यार से भरा रहे, यह मेरी दुआ है।

इस वर्ष के साथ ही नया दशक भी शुरू हो रहा है। इसके साथ ही मुझे अपने जन्म का वर्ष भी याद आता है 1950, तब भी नया दशक प्रारंभ हुआ था। सात दशक इस धरती पर बिता दिए, बहुत ज्यादा लोगों को नहीं मिलता इतने समय इस ग्रह पर मनुष्य के रूप में जीवन जीने का अवसर!

इसके साथ ही पिछले वर्ष का एक अलग अनुभव याद आ रहा है। जी हाँ मैंने कम से कम तीन मित्रों से उनके जन्म-दिन के अवसर पर मित्रता तोड़ ली! वैसे ये अच्छी बात नहीं है ना! लेकिन ये अनुभव भी शायद इस उम्र में और आज के आधुनिक समय में ही ज्यादा होता है!

जैसा मैंने कहा मेरे मित्र और सहकर्मी, जो ‘फेसबुक’ पर भी मेरे मित्र समूह में शामिल थे, उनके जन्मदिन का नोटिफिकेशन फेसबुक पर आया, अब जबकि हम रिटायर होने के बाद काफी दूर-दूर अलग शहरों में रहते थे। मुझे यह जानकारी तो मिल चुकी थी कि मेरे वे मित्र अब परलोक सिधार चुके हैं, लेकिन फेसबुक पर उनकी प्रोफाइल अभी भी बनी हुई थी, शायद उनको पता होता कि अब जाने वाले हैं तो वे खुद ही इसे समाप्त कर देते, लेकिन ऐसा तो होता नहीं ना!

हाँ तो मेरे पास एक विकल्प तो यह था कि ऐसे अपने मित्रों को जन्म दिन की बधाई दूं, लेकिन इस बात की संभावना तो नहीं है न कि जहाँ वे अब है, वहाँ फेसबुक भी होगा! खैर मुझे बेहतर विकल्प यही लगा कि मैं उनको अपने मित्रों की सूची से हटा दूं, वरना हर वर्ष जन्मदिन की यह सूचना बिना कारण परेशान करती। यह अनुभव विशेष रूप से पिछले वर्ष ही हुआ क्योंकि मेरी उम्र के लोग ऊपर की फ्लाइट के लिए लाइन में लगे होते हैं ना!

खैर नववर्ष पर यह प्रसंग अचानक याद आ गया। हाँ तो 1950 में जन्म लेने के बाद, मै पूरे उत्साह और जीवंतता के साथ जीवन के आठवें दशक में प्रवेश कर रहा हूँ, जो बिछड़ उनको सादर नमन और नए मित्रों का हार्दिक स्वागत-

आने वाले स्वागत, जाने वाले विदा,
अगले चौराहे पर इंतजार, शुक्रिया!

 

आज के लिए इतना ही, नववर्ष 2020 के लिए हार्दिक शुभकामनाएं।
ईश्वर करे कि यह वर्ष हम सभी के और समूची मानव जाति के लिए सुख-समृद्धि लाने वाला हो।

नमस्कार।

*****

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: