ये कहानी फिर सही 3

नफरतों के तीर खाकर, दोस्तों के शहर में,
हमने किस किस को पुकारा, ये कहानी फिर सही|

मसरूर अनवर

Leave a Reply