कच्ची दीवार हूं 2

तुमको आंखों में तसव्वुर की तरह रखता हूं,
दिल में धड़कन की तरह तुम भी बसाना मुझको।

असरार अंसारी

2 Comments

Leave a Reply