तेरा मेरा प्यार!

चाहे गीता बांचिए, या पढ़िए क़ुरआन,
तेरा मेरा प्यार ही, हर पुस्तक का ज्ञान|

निदा फाज़ली

Leave a Reply