बाँहों भर संसार!

छोटा करके देखिए जीवन का विस्तार,
आँखों भर आकाश है, बाँहों भर संसार|

निदा फाज़ली

Leave a Reply