तुम भी घर देर से आओगे!

जब सूरज भी खो जायेगा और चाँद कहीं सो जायेगा,
तुम भी घर देर से आओगे जब इश्क़ तुम्हें हो जायेगा|

सईद राही

3 Comments

Leave a Reply