तुम मेरी ग़ज़लें गाओगे!

बेचैनी जब बढ जायेगी और याद किसी की आयेगी,
तुम मेरी ग़ज़लें गाओगे जब इश्क़ तुम्हें हो जायेगा|

सईद राही

Leave a Reply