संतों का आचरण देखा!

लुटेरे डाकू भी अपने पे नाज़ करने लगे,
उन्होंने आज जो संतों का आचरण देखा|

नीरज

Leave a Reply