कोई तेरे जैसा न था!

मैं तेरी सूरत लिए सारे ज़माने में फिरा,
सारी दुनिया में मगर, कोई तेरे जैसा न था|

अदीम हाशमी

Leave a Reply

%d bloggers like this: