तो अभी से छोड़ जाओ!

मेरे हमसफ़र पुराने मेरे अब भी मुंतज़िर हैं,
तुम्हें साथ छोड़ना है तो अभी से छोड़ जाओ|

अहमद फ़राज़

Leave a Reply