मरने की आसानी दे मौला!

तेरे होते कोई किसी की जान का दुश्मन क्यों हो,
जीने वालों को मरने की आसानी दे मौला |

निदा फ़ाज़ली

Leave a Reply