आँसू की भी जगह रखना!

ख़ुशी की आँख में आँसू की भी जगह रखना,
बुरे ज़माने कभी पूछकर नहीं आते|

वसीम बरेलवी

Leave a Reply