तुम्हारी मस्त नज़र!

आज मैं पुरानी फिल्म- ‘दिल ही तो है’ का एक गीत शेयर कर रहा हूँ| इस फिल्म के नायक राज कपूर थे और उनकी नायिका नूतन थीं| इस फिल्म के लिए मुकेश जी ने ये प्यारा सा गीत गाया था|

आज का यह गीत साहिर लुधियानवी जी का लिखा हुआ है और इसे रोशन जी के संगीत निर्देशन में मुकेश जी ने बड़े मस्ती भरे अन्दाज़ में गाया था|

लीजिए प्रस्तुत हैं इस गीत के बोल –


तुम्हारी मस्त नज़र, गर इधर नहीं होती,
नशे में चूर फ़िज़ा इस क़दर नहीं होती|

तुम्हीं को देखने की दिल में आरज़ूएं हैं,
तुम्हारे आगे ही और ऊँची नज़र नहीं होती|

ख़फ़ा न होना अगर बढ़ के थाम लूँ दामन,
ये दिल फ़रेब ख़ता जान कर नहीं होती|

तुम्हारे आने तलक हम को होश रहता है,
फिर उसके बाद हमें कुछ खबर नहीं होती|


आज के लिए इतना ही,
नमस्कार
******

2 Comments

Leave a Reply