मुनासिब हैं इस सफ़र के लिए!

न हो कमीज़ तो पाँवों से पेट ढँक लेंगे,
ये लोग कितने मुनासिब हैं इस सफ़र के लिए|

दुष्यंत कुमार

Leave a Reply