उसे हवा कर दे!

मैं उस के जोर को देखूँ वो मेरा सब्र-ओ-सुकूँ,
मुझे चराग़ बना दे उसे हवा कर दे|

राना सहरी

Leave a Reply