मोहर्रम की तरह!

मेरे महबूब मेरे प्यार को इल्ज़ाम न दे,
हिज्र में ईद मनाई है मोहर्रम की तरह|

राना सहरी

Leave a Reply