मोरनी नाचना छोड़ दे!

तेरी आँखों से कलियां खिलीं, तेरे आँचल से बादल उड़े,
देख ले जो तेरी चाल को, मोरनी नाचना छोड़ दे|

हसन काज़मी

Leave a Reply