कोई देर में जाने वाला!

इक मुसाफ़िर के सफ़र जैसी है सबकी दुनिया,
कोई जल्दी में कोई देर में जाने वाला|

निदा फ़ाज़ली

Leave a Reply