इक फूल देके आया था!

मैं जिसके हाथ में इक फूल देके आया था,
उसी के हाथ का पत्थर मेरी तलाश में है|

कृष्ण बिहारी ‘नूर’

Leave a Reply