मैं एक कतरा हूँ–

मैं एक कतरा हूँ मेरा अलग वजूद तो है,
हुआ करे जो समंदर मेरी तलाश में है|

कृष्ण बिहारी ‘नूर’

Leave a Reply