आँखों से कहलाना ज़रूरी है!

मोहब्बत ना-समझ होती है समझाना ज़रूरी है,
जो दिल में है उसे आँखों से कहलाना ज़रूरी है |

वसीम बरेलवी

Leave a Reply