कुछ पाना ज़रूरी है!

मेरे होंटों पे अपनी प्यास रख दो और फिर सोचो,
कि इसके बाद भी दुनिया में कुछ पाना ज़रूरी है|

वसीम बरेलवी

Leave a Reply