नज़र आना ज़रूरी है!

सलीक़ा ही नहीं शायद उसे महसूस करने का,
जो कहता है ख़ुदा है तो नज़र आना ज़रूरी है|

वसीम बरेलवी

Leave a Reply