शर्माना ज़रूरी है!

बहुत बेबाक आंखों में तअ’ल्लुक़ टिक नहीं पाता,
मोहब्बत में कशिश रखने को शर्माना ज़रूरी है|

वसीम बरेलवी

Leave a Reply