याद हमें सब आते हैं!

ऐसे हिज्र के मौसम अब कब आते हैं,
तेरे अलावा याद हमें सब आते हैं|

शहरयार

Leave a Reply