तेरी बात चली मीलों तक!

मैं हुआ चुप तो कोई और उधर बोल उठा,
बात यह है कि तेरी बात चली मीलों तक|

कुंवर बेचैन

Leave a Reply