बेकार हमें ग़म होता है!

सच ये है बेकार हमें ग़म होता है,
जो चाहा था दुनिया में कम होता है|

जावेद अख़्तर

Leave a Reply