मिलने-जुलने का हौसला रखना!

मिलना जुलना जहाँ ज़रूरी हो,
मिलने-जुलने का हौसला रखना|

निदा फ़ाज़ली

2 Comments

    1. shri.krishna.sharma says:

      Thanks ji.

Leave a Reply