और वही यादें-यादें!

आज फिर दिल ने कहा आओ भुला दें यादें,
ज़िंदगी बीत गई और वही यादें-यादें|

अहमद फ़राज़

Leave a Reply