देर से मिला है मुझे!

ज़िन्दगी से यही गिला है मुझे,
तू बहुत देर से मिला है मुझे|

अहमद फ़राज़

Leave a Reply