देखभाल के चल!

ये लफ़्ज़ आईने हैं मत इन्हें उछाल के चल,
अदब की राह मिली है तो देखभाल के चल।

कुँअर बेचैन

Leave a Reply