मुहब्बत है या कारखाना!

अभी मुझसे, फिर आपसे फिर और किसी से,
मियाँ ये मुहब्बत है या कारखाना।

कन्हैयालाल नंदन

Leave a Reply