गले में निशान-ए-सलीब था!

मरियम कहाँ तलाश करे अपने ख़ून को,
हर शख़्स के गले में निशान-ए-सलीब था|

अंजुम रहबर

Leave a Reply