आँसू नज़र न आएगा!

तुम्हें ग़मों का समझना अगर न आएगा,
तो मेरी आँख में आँसू नज़र न आएगा|

वसीम बरेलवी

2 Comments

Leave a Reply