अपने ही साये से भी डर जाता हूँ मैं!

सारी दुनिया से अकेले जूझ लेता हूँ कभी,
और कभी अपने ही साये से भी डर जाता हूँ मैं|

राजेश रेड्डी

Leave a Reply