केसरया आँचल भेजो न!

मोल्सरी की शाख़ों पर भी दिये जलें,
शाख़ों का केसरया आँचल भेजो न|

राहत इन्दौरी

2 Comments

Leave a Reply