हिन्दी मुस्कुराती है!

लिपट जाता हूँ माँ से और मौसी मुस्कुराती है,
मैं उर्दू में ग़ज़ल कहता हूँ हिन्दी मुस्कुराती है|

मुनव्वर राना

2 Comments

Leave a Reply