मुहब्बत नहीं करने देते!

हमको आपस में मुहब्बत नहीं करने देते,
इक यही ऐब है इस शहर के दानाओं में|

क़तील शिफ़ाई

Leave a Reply