आँसू भी पिए जाते हैं!

नश्शा दोनों में है साक़ी मुझे ग़म दे के शराब,
मय भी पी जाती है, आँसू भी पिए जाते हैं|

शमीम जयपुरी

Leave a Reply