पैवस्त हुआ और टूट गया!

क्या शय थी किसी की पहली नज़र कुछ इसके अलावा याद नहीं,
इक तीर सा दिल में जैसे लगा पैवस्त हुआ और टूट गया|

शमीम जयपुरी

Leave a Reply