रुकते हैं गुजर जाते हैं!

जाने किस हाल में हम हैं कि हमें देख के सब,
एक पल के लिये रुकते हैं गुजर जाते हैं|

अहमद फ़राज़

Leave a Reply