तुमने भी अगर देखा है!

क्या ग़लत है जो मैं दीवाना हुआ, सच कहना,
मेरे महबूब को तुमने भी अगर देखा है|

मजरूह सुल्तानपुरी

Leave a Reply