मुझको चुनवा दो दीवारों में!

लोग मुझे पागल कहते हैं गलियों में बाज़ारों में।
मैंने प्यार किया है मुझको चुनवा दो दीवारों में।

नक़्श लायलपुरी

2 Comments

Leave a Reply