ये अन्दाज़-ए-बयाँ मेरा!

पड़ेगा वक़्त जब मेरी दुआएँ काम आएंगी,
अभी कुछ तल्ख़ लगता है ये अन्दाज़-ए-बयाँ मेरा|

बेकल उत्साही

Leave a Reply