जो बिसाते-जाँ ही उलट गया!

जो बिसाते-जाँ ही उलट गया, वो जो रास्ते से पलट गया,
उसे रोकने से हुसूल क्या? उसे भूल जा…उसे भूल जा।

अमजद इस्लाम

Leave a Reply