मेरे साथ आ उसे भूल जा!

मैं तो गुम था तेरे ही ध्यान में, तेरी आस तेरे गुमान में,
सबा कह गयी मेरे कान में, मेरे साथ आ उसे भूल जा।

अमजद इस्लाम

Leave a Reply