वो मेरी पहली शिकस्त!

वो मेरी पहली मोहब्बत, वो मेरी पहली शिकस्त,
फिर तो पैमाने-वफ़ा सौ मर्तबा मैंने किया|

अहमद फ़राज़

Leave a Reply