बर्फ़ सी दिल पे गिर रही है अभी!

मैं भी किस वादी-ए-ख़याल में था,
बर्फ़ सी दिल पे गिर रही है अभी|

अहमद फ़राज़

Leave a Reply