मुड़ मुड़ के देखती है अभी!

ज़िन्दगी कू-ए-ना-मुरादी से,
किसको मुड़ मुड़ के देखती है अभी|

अहमद फ़राज़

Leave a Reply