आतिश-ए-गुलफ़ाम से जल जाते हैं!

बच निकलते हैं अगर आतिश-ए-सय्याद से हम,
शोला-ए-आतिश-ए-गुलफ़ाम से जल जाते हैं|

क़तील शिफ़ाई

Leave a Reply